Ishq ka kya kasur

1. बदनाम क्यों करते हो तुम इश्क़ को ,

 ए दुनिया वालो?
महबूब तुम्हारा बेवफा है, 
तो इश्क़ का क्या कसूर?

2. लोग हर बार यही पूछते है तुमने उसमे देखा क्या .. ?
मैं हर बार यही कहता हूँ बेवजह होती है मोहब्बत

3 अब तुझे न सोचूँ  तो,
जिस्म टूटने-सा लगता है..
एक वक़्त गुजरा है
तेरे नाम का नशा करते करते।

Leave a Reply