छुप छुप के कहीं

छुप छुप के कहीं पोस्ट मेरी पढती होगी,
मेरी तस्वीरों से तंहाई मे लड़ती होगी ,
जब भी मेरी याद उसे आती होगी,
लगता है अब भी वो रो पड़ती होगी

***********************

दिल चीर के दिखाऊ तो दर्द ढूंढ न पाओगे ,
वाह वाह
दिल चीर के दिखाऊ तो दर्द ढूंढ न पाओगे ,
क्योंकि दर्द तो मेरे दाँत में है।

Leave a Reply